Internet क्या है? Internet के अविष्कारक, शुरुआत और इसके फायदे, नुकसान से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

Internet क्या  है? Internet  के अविष्कारक, शुरुआत और इसके फायदे, नुकसान से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!


आज के समय में शायद कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं होगा जो इंटरनेट से परिचित ना हो। Internet के जाल ने पूरी दुनिया को अपनी गिरफ़्त में ले लिया है। दुनिया इंटरनेट पर इतना निर्भर हो गया है की इसके बिना किसी चीज की कल्पना करना असंभव हो गया है, लेकिन इंटरनेट का ज्यादा प्रयोग करने पर आपको इंटरनेट के प्रभाव भी देखने को मिल सकता है। इंटरनेट से जुड़ी ऐसी कई जानकारी है जो सभी को पता नहीं है तो इसीलिए आज की यह पोस्ट हम आपके लिए लेकर आए है जिसमें आपको इंटरनेट का इतिहास हिंदी में बताया जाएगा।


आधुनिक दुनिया INTERNET की डुनिया है जो हमारी जीवनशैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई है। यह तीव्र गति से पूरे विश्व में फैल गया है और विभिन्न तरह की विशेषताओं प्रदान करके इंटरनेट ने हमारे जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है। आज शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र होगा जहाँ इंटरनेट का अपयोग नहीं किया जाता है, इंटरनेट ने पूरी दुनिया को आपस में जोड़ा रखा है लेकिन फिर भी बहुत कम लोगों में है जिनके पास इंटरनेट के बरे मीन जाँकारी पूरी तरह से पता होता है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि इंटरनेट की जानकारी विस्तार में है।

Internet क्या है
इंटरनेट वर्ल्ड का सबसे बड़ा नेटवर्क है। जब दो या दो से अधिक कंप्यूटर, सूचनाओं का सहभागिता-प्रदान करने के लिए एक-दूसरे से कनेक्ट होते हैं तो एक जाल बन जाता है उसी जाल को इंटरनेट का नाम दिया गया है। हम अपने कंप्यूटर में सूचनाओं या दस्तावेज़ों का इंटरैक्शन-प्रदान इंटरनेट के कारण ही कर पाते हैं। इंटरनेट आपस में जुड़े बहुत सारे कंप्यूटरों का जाल है, जो राउटर और सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी कंप्यूटर को आपस में साझा किया जाता है। सरल भाषा में कहे, तो सूचनाओं के सहभागिता-प्रदान करने के लिए टीसीपी / आईपी प्रोटोकॉल के माध्यम से दो कंप्यूटरों के बीच स्थापित सम्बन्ध को इंटरनेट कहा जाता है।

Internet Full Form:

INTERNET is KA FULL FORM - INTERNATIONAL NETWORK.

Internet Ka Aviskar Kisne Kiya
The Internet was not developed by any one person. Many people have been involved in making the Internet and many people have given their support. But according to Google's report, Vint Cerf and Robert Elliot Kahn are known as the father of the Internet, as they first created the TCP / IP protocol Internet.

Internet Ki Shuruaat Kisne Ki
इंटरनेट की शुरुआत कब हुई अगर यह बात सही है तो इंटरनेट की शुरुआत 60 के दशक में लगभग 1962 से 1969 के बीच में हुई थी। इसको सबसे पहले अमेरिकी रक्षा विभाग ने बनाया था। दुनिया के सबसे पहले इंटरनेट का नाम ARPANET (उन्नत अनुसंधान परियोजना एजेंसी नेटवर्क) था। अर्पानेत का इस्तेमाल सर्वप्रथम 1969 में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में एक संदेश भेजने के लिए किया गया था। इसके बाद यह लगभग सन 1972 तक दुनिया के अलग-अलग देशों तक पहुँच चुका था और इसी के साथ इसका नाम बदल कर इंटरनेट कर दिया गया।

उसके बाद इंटरनेट में धीरे-धीरे कई बदलाव आए और यह आम लोगो के लिए भी उपलब्ध हो गया। इंटरनेट का सबसे ज्यादा इस्तेमाल तब होने लगा था जब 1989 में टिम बेनर ली ने इंटरनेट पर संचार को सरल बनाने के लिए उपयोगकर्ता, पृष्ठ और सूची का उपयोग करके वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) बनाया और 1998 में गूगल के आने के बाद इंटरनेट का फेस बनाया। ही बदल गया जिसे आज हम सब जानते हैं।

INDIA मेरा इंटरनेट कब शुुरु हुआ
भारत में इंटरनेट की शुरुआत 15 अगस्त 1995 में "वीएसएनएल" (विद्या संचार निगम लिमिटेड) के द्वारा की गयी थी। 1995 से पहले भारत में इंटरनेट कही भी नहीं था इसके बाद से ही बड़ी कंपनियों ने बाज़ार में अपना नाम बनाया और कई सारी कंपनियों ने अपनी शुरुआत की। ” तब से ही भारत में इंटरनेट का विस्तार बढ़ता चला गया और आज हमारा देश इंटरनेट इस्तेमाल करने में पूरी दुनिया में दूसरे नंबर पर है।

Internet Ke Fayde
इंटरनेट की Upyogita इतनी बढ़ गई है की किसी भी कार्य को आसान बनाने के लिए सबसे पहले दिमाग में इंटरनेट का ही ख्याल आता है क्योंकि इंटरनेट Ke Labh ही इतने सारे होते हैं तो आइये जानते है इंटरनेट के फायदे क्या है:

किसी भी तरह की जानकारी प्राप्त करने के लिए हम इंटरनेट की मदद ले सकते हैं इंटरनेट पर सभी विषयों से जुड़ी जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
बस, ट्रेन, एयरप्लेन की टिकट इंटरनेट के द्वारा ऑनलाइन ही घर बैठे बुक कर सकते हैं।

हम अपनी पढ़ाई से संबंधित सभी जानकारी जैसे टाइम टेबल या रिजल्ट घर बैठे देख सकते हैं। हम ऑफ़लाइन किसी भी विषय के बारे में अध्ययन भी कर सकते हैं।
ऑफ़लाइन ऐसी बहुत सी सुविधाओं में जिससे इंटरनेट पर ही काम करके बहुत सारा पैसा भी आप कमा सकते हैं, आज इंटरनेट के माध्यम से बहुत सी कंपनी काम करके पैसा कमा रही है जैसे- फेसबुक और गूगल।
किसी दूर बैठे व्यक्ति से आप ऑनलाइन बातचीत कर सकते हैं जैसे- वीडियो कॉल।
Internet Ke Nuksan In Hindi
जिस प्रकार के इंटरनेट के लाभ में ठीक उसी प्रकार ज्यादा प्रयोग करने पर इंटरनेट के हानी भी है। आईये जानते हैं कि उनके बारे में:

इंटरनेट के जरिये अगर हमारे कंप्यूटर और मोबाइल में वायरस और कैंसर आने की सम्भावना होती है।
इंटरनेट पर कोई भी व्यक्ति कुछ भी शेयर कर सकता है इंटरनेट के दुरुपयोग से अफवाहें तेजी से फैलती है।
अगर यह कहे की इंटरनेट का इस्तेमाल हमारा समय तो करता है, तो यह कहना गलत नहीं होगा लेकिन कभी-कभी इसकी लत लगने के कारण यह कई गुना ज्यादा हमारा समय भी बर्बाद कर देता है।
इंटरनेट की लत भी शराब की लत की तरह ही होती है। जिससे बहुत मुश्किल होता है। स्वास्थ्य पर बहुत से तरह के इंटरनेट के दुशपरिनम देखने को मिलते है जैसे- वजन बढ़ना, मानसिक तनाव, शरीर में दर्द, मानसिक बुद्धि कम होना, आँखों में दर्द होना आदि।
यह भी पढ़ें: आईओटी क्या है? IOT कैसे काम करता है? आईओटी के अनुप्रयोग - हिंदी में इंटरनेट ऑफ थिंग्स उदाहरण!

निष्कर्ष:
इंटरनेट Kaise Bana इसकी पूरी जानकारी आपको विस्तार में जानने को मिली। एक दिन भी अगर नेट स्पीड धीमी हो जाए या नेट बंद हो जाए तो हम कितने परेशान हो जाते हैं तो अब आप समझ गए होंगे की आज के समय में इंटरनेट कितना महत्वपूर्ण हो गया है तो दोस्तों अगर आपको आज की पोस्ट पसंद आयी हो तो लाइक और शेयर ज़रूर करे साथ ही आपके कोई सुझाव है तो कमेंट करके बताए आगे भी इसी तरह की जानकारी प्राप्त करने के लिए जुड़े रहे हमारे साथ हिंदी सहायता पर धन्यवाद!

Post a Comment

0 Comments